आयकर विभाग के समक्ष कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार हुए पेश

Spread the love

बेंगलुरू। कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार आज यहां आयकर कार्यालय में आयकर अधिकारियों के समक्ष उपस्थित हुए। वह पिछले सप्ताह अपनी ​विभिन्न संपत्तियों पर की गई छापेमारी के सिलसिले में आयकर कार्यालय में उपस्थित हुए। लगातार तीन दिनों तक कथित कर चोरी के मामले में अधिकारियों द्वारा पूछताछ किये जाने के बाद बिजली राज्य मंत्री को पूछताछ के लिये आज आयकर विभाग के समक्ष उपस्थित होने के लिये सम्मन जारी किया गया था।
शिवकुमार अपने भाई और बेंगलुरू ग्रामीण के सांसद डीके सुरेश के साथ आयकर अधिकारियों के समक्ष उपस्थित हुए थे। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर अधिकारी उन्हें फिर से बुला सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘आयकर अधिकारियों को किसी करदाता, व्यापारी या व्यक्ति को तलब करने और पूछताछ करने का पूरा अधिकार है। मैं कई बार पहले भी यहां आया हूं। उन्होंने सुब​ह 11 बजे के बाद किसी भी समय मुझसे उपस्थित होने को कहा था। इसलिये मैं यहां आया हूं।’ उन्होंने कहा कि आयकर अधिकारियों ने उनके पहले के बयान पर भी चर्चा की और उनके साथ ‘बेहद सम्मान के साथ बर्ताव’ किया।
शिवकुमार ने कहा, ‘वे मेरी भलाई के लिये मेरा मार्गदर्शन कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने उनसे कल या परसों नहीं आने को कहा और कहा कि जब भी जरूरत होगी वे उन्हें सूचित करेंगे। आयकर विभाग ने गत दो अगस्त को शिवकुमार की​ विभिन्न संपत्तियों पर छापेमारी शुरू की थी। उन्होंने शहर के बाहरी हिस्से में एक रिसॉर्ट में गुजरात के कांग्रेस के 44 विधायकों की मेजबानी की थी। इन विधायकों को मंगलवार को होने वाले राज्यसभा चुनाव से पहले भाजपा द्वारा उन्हें कथित तौर पर अपने पाले में करने के लिये किये जा रहे प्रयासों से बचाने के लिये यहां लाया गया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनैतिक सचिव अहमद पटेल गुजरात से उच्च सदन के लिये निर्वाचित होने के लिये चुनाव लड़ रहे हैं।
देशभर में तकरीबन 66 स्थानों पर की गई छापेमारी के दौरान अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने नकदी और 15 करोड़ रुपये मूल्य से अधिक के गहने जब्त किये। आयकर विभाग को अब भी छापेमारी के नतीजों के बारे में एक आधिकारिक बयान देना है। ‘पंचनामा’ (जब्ती सूची) और आयकर अधिकारियों द्वारा कथित तौर पर की गई बरामदगी के बारे में पूछे जाने शिवकुमार ने कहा, ‘मैंने इसके लिये कहा है। मेरे लेखाकार को इसके लिये आवेदन करना है..उन्होंने (आयकर अधिकारियों) प्रक्रिया के अनुसार आवेदन करने को कहा है। मैं अपने लेखाकार से इसे जुटाने को कहूंगा।’ छापेमारी का कोई ब्योरा नहीं देते हुए शनिवार को छापेमारी खत्म होने के तुरंत बाद शिवकुमार ने कहा था कि वह ‘पंचनामा’ मिलने के बाद ही मीडिया से विस्तार से बातचीत करेंगे। ज्योतिषी द्वारकानाथ और विधानपार्षद एस रवि भी आज पूछताछ के लिये आयकर अधिकारियों के समक्ष उपस्थित हुए। उन्हें मंत्री का करीबी माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

नीतीश ने रक्षा बंधन पर वृक्ष को बांधी राखी

Spread the loveपटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रक्षा बंधन के अवसर पर पूर्व की भांति इस बार भी वृक्ष को राखी बांधी और कहा कि हम बिहार में पर्यावरण की सुरक्षा के लिए हरसंभव काम करेंगे तथा इस वर्ष के अंत तक राज्य के हरित क्षेत्र को 15 […]

You May Like