एसटीएफ और पुलिस ने संयुक्त छापा अभियान में 440 पेटी और 900 बोतल बरामद

Spread the love
रुद्रपुर ।देवभूमि खबर। एसटीएफ एवं कोतवाली पुलिस के संयुक्त अभियान में पुलिस ने शराब माफियाओं के खिलाफ एक बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने शराब माफियाओं के चंगुल से अंग्रेजी शराब की 440 पेटी और 900 बोतल बरामद की है। पुलिस ने मामले में चार शराब माफियाओं को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वह ये शराब समूचे कुमाऊं में सप्लाई करते हैं।
पिछले काफी समय से रुद्रपुर में अरुणाचल एवं अन्य प्रांतों से अवैध रूप से शराब बेचे जाने का सिलसिला चल रहा था। इसकी भनक स्थानीय पुलिस को थी, लेकिन इन शराब माफियाओं को गिरफ्तार करने में वे पूरी तरह सफल नहीं हो सके। इसी दौरान शराब माफियाओं का यह धंधा एसटीएफ की नजर में आ गया। एसटीएफ को मुखबिर खास ने अंग्रेजी शराब की एक बड़ी खेप में शहर में होने की सूचना दी। बस फिर क्या था। एसटीएफ कुमाऊं प्रभारी एसआई केपी टम्टा ने अपनी फोर्स के साथ स्थानीय पुलिस को भी साथ लिया और एक अभियान के तहत कार्रवाई शुरू कर दी। मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ ने नैनीताल मार्ग पर फोर्स लगा दी। इसी दौरान गदरपुर से नैनीताल की ओर जा रही एक इनोवा कार (एच10एक्स0251) को घेराबंदी कर रोकने का प्रयास किया तो आरोपी तेजी से कार भगाने लगे। इस पर फोर्स ने करीब आधा किलोमीटर की दूरी पर पीछा कर घेर लिया। कार में बैठे सभी लोगों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन आरोपी पुलिस के शिकंजे से बच नहीं सके। कार की तलाशी में कार से 10 पेटी अंग्रेजी शराब बरामद हुई। जिसका नाम रॉयल पटियाला मेड इन इंडिया अंकित था। पकड़े गए सभी आरोपियों ने पुलिस को अपना नाम सोनीपत हरियाणा निवासी विनोद कुमार पुत्र नारायण सिंह, जोगेंद्र सिंह पुत्र हुकुम सिंह, रोहित पुत्र बलराज सिंह एवं गांव खानसू मुक्तेश्वर (नैनीताल) निवासी तेज सिंह पुत्र रणजीत सिंह बताया है। एसटीएफ को बताया कि वे इस शराब के धंधे में काफी समय से लिप्त हैं। जब एसटीएफ ने उनसे सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि उनका एक स्टोर करीतपुर रोड पर है। जहां उन्होंने शराब छिपाकर रखी हुई है। एसटीएफ और पुलिस ने संयुक्त छापा अभियान में कीरतपुर स्थित गोदाम से 430 पेटी शराब बरामद की। इस तरह कुल 440 पेटी शराब बरामद हुई। पुलिस ने पकड़ी गई शराब की कीमत 20 लाख रुपये बताई है। यह शराब मेड इन अरुणाचल प्रदेश और मेड इन इंडिया के लेबल लगी है। पुलिस की इस बड़ी कार्रवाई पर एसएसपी डा. सदानंद दाते ने उनकी प्रशंसा की और उन्हें इनाम देने और डीआईजी से इनाम दिलाने की सिफारिश करने का आश्वासन दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

सरकार जनहितों को दरकिनार कर शराब को अधिक महत्व दे रही है: इंदिरा

Spread the loveजनहितों की अनदेखी कतई बर्दाश्त नहीं हल्द्वानी ।देवभूमि खबर।। नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश ने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार अधिक राजस्व की चाह में जनहितों को दरकिनार कर शराब को अधिक महत्व दे रही है। आज हालत यह है कि गली मुहल्लों में तक शराब की दुकानें […]