किसानों की समस्याओं का उपवास इंदिरा ने तुड़वाया

Spread the love

रुद्रपुर।। देवभूूमि खबर। किसानों के कर्ज माफी का सपना दिखाने के बाद उनके वोट हासिल करने वाली भाजपा सरकार के खिलाफ पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़ एवं कांग्रेस जिलाध्यक्ष नारायण सिंह बिष्ट का कलक्ट्रेट में चल रहा 24 घंटे का उपवास नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश ने जूस पिला कर तुड़वाया। इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कांग्रेस हर तहसील पर किसानों की लड़ाई को ले जाएगी। सरकार को बेफिक्र होकर सोने नहीं दिया जाएगा। वहीं, उपवास तोडने वाले श्री बेहड़ ने कहा कि उन्होंने शौकिया उपवास नहीं किया है, उपवास के जरिए वह सरकार पर दबाव बना रहे हैं। किसानों के अपमान पर कांग्रेस चुप बैठने वाली नहीं है।
गौरतलब है कि गत दिवस सुबह ग्यारह बजे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री बेहड़ एवं जिलाध्यक्ष बिष्ट के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने 24 घंटे का उपवास शुरू किया था। कांग्रेस के सरकार को घेरो कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, कांग्रेस के उत्तराखंड सहप्रभारी संजय कपूर आदि बड़े नेताओं ने शिरकत की थी। आंदोलन में काफी संख्या में जिले भर से किसान शामिल हुए। कलक्ट्रेट पर रात भर बेहड़ व बिष्ट अपने समर्थकों के साथ उपवास पर बैठे रहे। गुरुवार को सुबह ही नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश कलक्ट्रेट पहुंची तथा बेहड़ के साथ धरने पर बैठ गई। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि रुद्रपुर में लोग रहने से घबराते थे क्योंकि यहां मलेरिया का प्रकोप था। उस वक्त मजबूती से सिख समुदाय के लोगों ने तराई को आबाद किया। कहा कि जब बेहड़ ने रुद्रपुर का विकास किया तो उन्हें रश्क होता था। बेहड़ ने रुद्रपुर को कहां से कहां पहुंचा दिया गया, मगर जनता उन्हें सम्मान नहीं दे पाई, जिसके वह हकदार थे। कहा कि अब रुद्रपुर का विकास रुक गया है। कहा कि जनता को बहुत भ्रम में रहने की जरूरत नहीं है। भाजपा ने बिहार में सरकार गिरा दी। भाजपा धमकाने वाली राजनीति कर रही है। आयकर विभाग का खुला दुरुपयोग किया जा रहा है।
डा. हृदयेश ने कहा कि चुनाव लड़ते समय भाजपा नेताओं ने बयान दिए थे कि सरकार बनी तो किसानों का कर्ज माफ होगा। यूपी में सीएम ने कर्जे माफ भी किए, साथ ही बैंकों को कहा कि वह किसानों के साथ कोई जबरदस्ती कर्ज वसूलने में न की जाए, लेकिन उत्तराखंड में भाजपा अपने वायदे से मुकर गई। कहा कि प्रधानमंत्री को जनता को गुमराह नहीं करना चाहिए। किसानों की आत्महत्या पर मुख्यमंत्री का यह बयान बेहद शर्मनाक है कि किसानों ने सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है। यह किसानों की मजाक बनाने जैसा है। कहा कि किसान से संबंधित मामलों में हल्के बयान नहीं आने चाहिए। सीएम को किसानों के दर्द का एहसास नहीं है। मुख्यमंत्री को खुद मृत किसानों के घर जाकर परिजनों से मिलना चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कांग्रेस अपने आंदोलन से किसानों के कर्ज माफ करने के लिए सरकार को बाध्य करेगी। कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त का नारा देने वाली भाजपा यह बताए कि विधायकों को खरीदने के लिए करोड़ों रुपये कहां से आ रहा है। उत्तराखंड में जब सरकार गिराने की कोशिश की गई तो एक कांग्रेस विधायक से सात करोड़ रुपये उन्होंने वापस कराए थे।
पूर्व मंत्री बेहड़ ने कहा कि भाजपा ने स्वयं घोषणा की थी कि कर्जे माफ करने की। कांग्रेस अथवा किसानों ने नहीं कहा था कि भाजपा कर्जे माफ करे। अब अपनी घोषणा से पीछे क्यों हट रही है भाजपा। कहा कि बेहद दुखद बात है कि जिले में दो दो मंत्री होने के बाद कोई मंत्री मृत किसान के परिजनों से संवेदना जताने तक नहीं पहुंचा। भाजपा सरकार किसानों का अपमान कर रही है। सरकार के दबाव में प्रशासनिक अधिकारी किसानों के आत्महत्या के मामलों में झूठी रिपोर्ट बना कर भेज रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह किसान के बेटे हैं और किसानों के हितों की लड़ाई को लड़ते रहेंगे। बाद में नेता प्रतिपक्ष ने उपवास पर बैठे दोनों नेताओं को जूस पिलाकर आंदोलन समाप्त कराया। इस मौके पर जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन सुभाष बेहड़, पूर्व विधायक नारायण पाल, पूर्व पालिकाध्यक्ष मीना शर्मा, पुष्कर राज जैन, सुशील गाबा, हिमांशु गाबा, अनिल शर्मा, हरीश पनेरू, हरभजन सिंह, ललित मिगलानी, हरीश अरोरा, मोहन खेड़ा, दलजीत खुराना, दिनेश पंत, हरनाम सिंह नारंग, सुरेश पपनेजा, इंद्रजीत सिंह, परिमल राय समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

नीतीश कुमार खुद ही लालची: लालू प्रसाद

Spread the loveरांची। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने आज यहां नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि वह खुद ही लालची हैं, वह हमको क्या सिखाएंगे। उन्होंने भागलपुर के भूमि घोटाले में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दोनों के […]

You May Like