डीएम ने बैंकर्सों को निर्देश दिए वे अपनी सोच को बदलें

Spread the love

रुद्रपुर।देवभूूमि खबर। जिला समन्वय समिति एवं जिला स्तरीय समीक्षा समिति की बैठक में जिलाधिकारी डा. नीरज खैरवाल ने कहा विकास से जुड़े अधिकारी व बैंकर्स आपसी तालमेल से कार्य करते हुए बेरोजगारों को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिए समय से ऋण उपलब्ध कराएं। डीएम ने अनावश्यक आवेदनों को लटकाने वाले बैंकों को आड़े हाथों लेते हुए कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही एक साफ्टवेयर तैयार कराने के निर्देश दिए, ताकि आवेदकों को समय रहते ऋण मिल सके।
उन्होंने बैंकर्सों को निर्देश दिए वे अपनी सोच को बदलें। सरकारी विभागों द्वारा ऋण हेतु जो आवेदन बैंकों को उपलब्ध कराए जाते हैं, उनमें 30 अगस्त तक अवश्य कार्रवाई करें। 30 अगस्त के बाद कोई भी आवेदन लंबित होने पर संबंधित बैंक के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके उच्च अधिकारियों को भी इस संबंध में अवगत कराया जाएगा। उन्होंने कहा बैंकों को जो आवेदन ऋण हेतु उपलब्ध कराए जाते हैं, लीड बैंक अधिकारी उनकी समीक्षा कर प्रत्येक सप्ताह उसकी सूचना जिलाधिकारीध् मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय को उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने कहा आर सेठी के अन्तर्गत जिन बेरोजगारों को प्रशिक्षण दिया जाता है, वे प्रशिक्षण के बाद अपना स्वरोजगार स्थापित कर सके इसके लिए बैंकों से वह किस तरह लोन प्राप्त कर सकता है इसकी भी जानकारी उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने लीड बैंक अधिकारी मधूसूदन सुमन को निर्देश देते हुए कहा आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूहों के समूहों को क्रेडिट लिंकेज हेतु बैंकों में सीसीएल हेतु व टर्म लोन हेतु जो आवेदन भेजे थे जिन बैंकों द्वारा उनमे अभी तक कार्रवाई नहीं की है, उनका स्पष्टीकरण लेते हुए उनके उच्च अधिकारियों को भी अवगत कराया जाए। उन्होंने बैंकर्सों को निर्देश दिए जिला प्रशासन के माध्यम से जो बैंकों की ऋण वसूली की जानी है, ऋण वसूली हेतु प्रत्येक बैंक प्रपत्र बनाकर एक अक्टूबर तक उपलब्ध कराए। उन्होंने कहा एक अक्टूबर के बाद भेजे गए प्रपत्रों पर कार्रवाई नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा बुधवार को ब्लाक दिवसों में भी मिशन मैनेजर बैकों से समन्वय स्थापित कर स्वयं सहायता समूहों के खाते खुलवाएंगे। जिलाधिकारी ने कहा ब्लाक स्तरीय समन्यवय समिति की बैठक उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में कराए ताकि बैठक सार्थक सिद्ध हो सके।
वर्षिक ऋण योजना 2017 18 की समीक्षा में 30 जून 2017 तक सम्पूर्ण कृषि क्षेत्र मे 17 प्रतिशत, उद्योग 25 प्रतिशत, अन्य प्राथमिक प्राप्त क्षेत्रों में 51 प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त हुई। बैठक में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, स्वतरू रोजगार योजना, किसान क्रेडिट कार्ड, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैंड अप इंडिया योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, आधार सीडिंग, नाबार्ड की योजनाओं की समीक्षा की गई।
बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय, पीडी डीआरडी, हिमांशु जोशी, जिला विकास अधिकारी अजय सिंह, लीड बैंक अधिकारी मधूसूमन सुमन, डीडीएम नाबार्ड विशाल शर्मा, महाप्रबन्धक उद्योग चंचल सिंह बोरा, मुख्य प्रबन्धक एसबीआई राधेश्याम, आरसेठी के सुरेश चन्द्र, मुख्य कृषि अधिकारी अभय सक्सेना सहित सभी बैंक व जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

सूबे में शहद क्वालिटी कन्ट्रोल लैब होगी स्थापित माधो सिंह भण्डारी किसान भवन में आयोजित कार्यक्रम में की घोषणा

Spread the loveदेहरादून ।देवभूूमि खबर। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को विश्व मधुमक्खी दिवस के अवसर पर माधो सिंह भण्डारी किसान भवन में आयोजित कार्यक्रम में घोषणा की कि राज्य में एक शहद क्वालिटी कन्ट्रोल लैब स्थापित की जाएगी इसके साथ ही उन्होंने मौनपालको को दी जाने वाली प्रोत्साहन […]

You May Like