नये भारत के ‘डिजिटल मुख्यमंत्री हैं योगी : अखिलेश यादव

Spread the love

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ को ‘नये भारत का डिजिटल मुख्यमंत्री’ करार देते हुए आज कहा कि वास्तविकताओं से अनभिज्ञ मुख्यमंत्री थानों में जन्माष्टमी मनाने और सड़क पर नमाज पढ़े जाने के मामलों में उलझे हुए हैं। थानों में जन्माष्टमी मनाने और सड़कों पर नमाज पढ़े जाने सम्बन्धी योगी की गुरुवार की टिप्पणी का जिक्र करते हुए यहां संवाददाता सम्मेलन में अखिलेश ने कहा, ‘‘भाजपा ने उत्तर प्रदेश में एक डिजिटल मुख्यमंत्री बैठा रखा है। नये भारत का डिजिटल मुख्यमंत्री। जिस तरह सारी डिजिटल चीजें हवा में हैं, उसी तरह उन्हें भी चीजों के बारे में पता नहीं है।’’

 उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री जी कहते हैं कि सपा ने थानों में जन्माष्टमी नहीं मनाने दी। मैं पूछता हूं कि मुख्यमंत्री बतायें कि पिछले 100 वर्षों में कब थानों में जन्माष्टमी नहीं मनायी गयी? जहां तक सड़कों का सवाल है, तो हमारा देश बहुत अच्छा है। यहां के लोग अपने यहां दावत और मांगलिक भोज भी सड़कों पर करते हैं। थानों की जन्माष्टमी और सड़कों पर ईद की नमाज की बातें करने से नया भारत नहीं बनेगा।’’
 राज्य के मुख्य विपक्षी दल के अध्यक्ष का इशारा मुख्यमंत्री योगी की 16 अगस्त की उस टिप्पणी की तरफ था जिसमें उन्होंने कहा कि अगर हम ईद की नमाज सड़कों पर पढ़ने से नहीं रोक सकते हैं तो हमें पुलिस थानों में जन्माष्टमी कार्यक्रम आयोजित करने पर रोक लगाने का कोई हक नहीं है।
 अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में अगली बार सपा की सरकार बनने पर थानों को होली, दीवाली, जन्माष्टमी, ईद समेत हर त्यौहार मनाने के लिये पांच-पांच लाख रुपये दिये जाएंगे। उन्होंने कहा कि योगी ने सत्ता सम्भालने के बाद कहा था कि झांसी में मेट्रो रेल चलायी जाएगी। अब तो केन्द्र सरकार ने ऐसी नीति बना दी है कि झांसी और गोरखपुर में मेट्रो चल ही नहीं सकती। सपा अध्यक्ष ने गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में इंसेफेलाइटिस पीड़ित बच्चों की मौत के मामले का जिक्र करते हुए कहा कि मौतों का कारण तो जांच के बाद स्पष्ट होगा। बहरहाल, जो बातें निकलकर आ रही हैं, उनके अनुसार वार्ड में ऑक्सीजन आपूर्ति बाधित होने के पीछे कहीं ना कहीं भ्रष्टाचार है। योगी इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोल रहे हैं। सरकार पीड़ितों की मदद तक नहीं कर रही है।
 उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार चाहे तो अन्य जांचों के साथ इस मामले की जांच भी सीबीआई से करा ले। पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में आयी बाढ़ का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार बाढ़ पीड़ितों की उम्मीद के अनुसार मदद नहीं कर रही है। उन्होंने गुरुवार को औरैया में खुद को हिरासत में लिये जाने का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में अपने सहयोगियों के साथ कुल 403 में से 325 सीटें जीतने वाली भाजपा जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में भी जनता के सामने जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है, इसीलिये वह पुलिस की मदद से जिला पंचायत सदस्यों का घोर उत्पीड़न कर रही है। अखिलेश ने कहा कि जरूरत पर पड़ने पर सपा जनता के बीच जाकर आंदोलन करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

करूणामय होने के साथ सख्त भी हैं मोदी : पासवान

Spread the loveकेन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कश्मीर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नीति का समर्थन करते हुए कहा कि वह करूणामय होने के साथ सख्त भी हैं। पासवान गुरुवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री पर निशाना साधे जाने पर टिप्पणी कर रहे थे। गांधी ने बुधवार […]

You May Like