पाकिस्तान घुसपैठ की कोशिशें सेना मुस्तैद

Spread the love

रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने  कहा कि पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के रास्ते जम्मू कश्मीर में घुसपैठ करने के प्रयासों को बढ़ाया है लेकिन बड़े स्तर पर हमारे जवानों ने इन कोशिशों को नाकाम किया है और उनके जवान बड़ी संख्या में हताहत हुए हैं। भैंरो प्रसाद मिश्र के पूरक प्रश्न के उत्तर में जेटली ने कहा कि आज नियंत्रण रेखा (एलओसी) को पूरी तरह सुरक्षित रखने के लिए जवान तैनात हैं और पश्चिमी सीमा पर भारतीय सेना का पूरी तरह प्रभाव और प्रभुत्व है। सीमा पार से घुसपैठ रोकने के लिए सभी तरह के कदम उठाये गये हैं। इसी वजह से सेना जम्मू कश्मीर के साथ पंजाब में भी घुसपैठ की कोशिशों को रोकने में पूरी तरह कामयाब रही है।
उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान ने पिछले कुछ समय में घुसपैठ की कोशिशों को तेज कर दिया है।’’ जेटली के अनुसार सुरक्षा बलों की कड़ी मुस्तैदी की वजह से घुसपैठ की तमाम कोशिशों को नाकाम किया गया है और इनमें कमी आई है। उन्होंने बताया कि इस साल एक अगस्त तक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्ष विराम उल्लंघन के 285 मामले सामने आये हैं। 2016 में एलओसी पर इस तरह के 228 मामले सामने आये थे और आठ जवानों की जान गयी थी। रक्षा मंत्री ने कहा कि सीमा के उस ओर भी लोगों के बड़ी संख्या में हताहत होने के मामले सामने आये।
जेटली ने बताया कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की सुरक्षा वाली अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पिछले साल संघर्ष विराम उल्लंघन के 221 मामले सामने आये थे।एक अन्य पूरक प्रश्न के उत्तर में जेटली ने कहा कि सेना ने जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ‘घुसपैठ रोधी अवरोध प्रणाली’ (एआईओएस) लगाई है। घुसपैठ को रोकने के लिए रडार, सेंसर और थर्मल इमेजर्स के साथ अन्य आधुनिक उपकरण लगाये जाते हैं और सीमा पर सुरक्षा के लिए बाड़ लगाने आदि की सतत प्रक्रिया है जो चलती रहती है। उन्होंने कहा, ‘‘भारत की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और सुरक्षा के लिए सीमा पर देश की रक्षा तैयारियों को बनाये रखने और उन्नत करने के लिए समय-समय पर उचित कदम उठाये जाते हैं।’’
कठिन परिस्थितियों और मुश्किल मौसम में काम करने वाले जवानों के लिए विशेष भत्ते के सवाल पर जेटली ने कहा कि हाल ही में सरकार ने सातवें वेतन आयोग की सिफारिश से भी ज्यादा भत्ते की घोषणा ऐसे क्षेत्र में काम करने वाले सैनिकों के लिए की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

नर्मदा घाटी के विस्थापितों का पुनर्वास सुनिश्चित करना चाहिए

Spread the loveदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने  कहा कि मध्य प्रदेश सरकार को सरदार सरोवर बांध के गेट बंद करने से प्रभावित हुए नर्मदा घाटी में रहने वाले लोगों का पुनर्वास सुनिश्चित करना चाहिए। केजरीवाल ने सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर के ‘‘बिगड़ते’’ स्वास्थ्य पर भी चिंता जताई। पाटकर इस […]

You May Like