पीएम मोदी करुणानिधि से मिले बाढ़ प्रभावित चेन्‍नई को दिया मदद का आश्‍वासन

Spread the love

चेन्नई। भारी बारिश और बाढ़ के हालातों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को चेन्नई पहुंचे। उन्‍होंने राज्‍य मुख्‍यमंत्री व उपमुख्‍यमंत्री के साथ बाढ़ प्रभावित चेन्‍नई के हालात पर चर्चा की और केंद्र से हरसंभव मदद दिलाने का आश्‍वासन दिया।
पीएम मोदी ने यहां तमिल अखबार थांती की 75वीं वर्षगांठ समारोह में भी हिस्सा लिया। इसके बाद प्रधानमंत्री डीएमके प्रमुख एम. करुणानिधि से मुलाकात करने उनके आवास पर पहुंचे।
करुणानिधि अक्टूबर 2016 में बीमार हो गए थे जिसके बाद उन्हें दो बार अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इसके अलावा मोदी पीएमओ के पूर्व अधिकारी डॉ. टीवी सोमनाथन की बेटी की शादी में भी शरीक होंगे।
इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मीडिया को अपनी विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे।
पीएम ने कहा कि आज अखबार केवल खबरें ही नहीं देता, हमारे विचारों को भी दिशा प्रदान करता है। यह दुनिया की ओर एक खिड़की की भांति है। बड़े रूप में देखा जाए तो मीडिया का मतलब समाज को बदलना है, इसलिए ही हम मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहते हैं।
पीएम ने अंग्रेजी शासन को याद करते हुए कहा कि वो लोग भारतीय वर्नाकुलर मीडिया से डरे हुए थे। इसी का नतीजा था कि स्थानीय समाचार पत्रों पर नकेल कसने के लिए ही 1878 में स्थानीय मीडिया एक्ट लाया गया था। स्थानीय भाषाओं में छपने वाले अखबारों की भूमिका आज भी वैसी ही है जैसी उस समय में थी।
पीएम ने आगे कहा कि मीडिया को अपनी विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। मीडिया में स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा देश के स्वस्थ्य लोकतंत्र के लिए अच्छी है। संपादकीय आजादी का उपयोग जन समान्य के लिए सोच समझकर किया जाना चाहिए। लिखने की आजादी की मतलब यह नहीं कि तथ्यात्मक गलतियों की आजादी मिली है।
इससे पहले पीएम ने ने अधिकारियों से बारिश को लेकर चर्चा की और सभी संभव मदद देने का आश्वासन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

मण्डलायुक्त ने तीनों विद्यालयों में विद्यार्थियों से संवाद करते हुये जानकारी ली

Spread the loveनैनीताल ।देवभूमि खबर। आयुक्त चन्द्रशेखर भट्ट ने खुर्पाताल के प्राथमिक, राउमावि व राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज का निरीक्षण किया। उन्होंने विद्यार्थियों के साथ ही आध्यापकों को भी गणित पढ़ाने के गुर। उन्होंने प्राधानाचार्य व शिक्षकों को छात्रछात्राओं को गणित, अंग्रेजी, हिन्दी, विज्ञान विषयों पर विशेष ध्यान देने के […]

You May Like