आचार संहिता का अधिकारी-कर्मचारी कड़ाई से करें पालनः डीएम

Spread the love

रुद्रप्रयाग।देवभूमि खबर। जिलाधिकारी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने लोकसभा सामान्य निर्वाचन के निमित अधिकारियों आचार संहिता का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिये हैं। उन्हांेने विभागवार अब तक कार्यवाही का जायजा लिया व नोडल अधिकारियांे को जिम्मेदारी से कार्य करने के निर्देश दिये।

सामान्य निर्वाचन 2019 के निमित आदर्श आचार संहिता के विभिन्न पहलुओं पर कार्यवाही के लिए निर्वाचन कार्य में जुटे नोडल अधिकारियों को निर्देश देते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि आयोग द्वारा निर्वाचन कार्यक्रम की योजना के चैबीस घंटे के अन्दर किसी भी शासकीय कार्यालय भवन परिसर से अनाधिकृत राजनैतिक प्रचार सामग्री पोस्टर, पम्पलेट, बैनर, झण्डे, होर्डिग, वालपेटिंग, कटआउट को हटाया जाय। इसी तरह 48 घण्टें के अन्तर्गत पब्लिक प्रापर्टी जिसमें बस स्टैण्ड, रोडवेज सरकारी बस, विद्युत, टेलीफोन, पानी की टंकी, सड़क, रास्ते आदि से सभी प्रकार के अनाधिकृत प्रचार सामग्री हटाई जाय व 72 घण्टे के अन्दर निजी सम्पत्तियों से सभी प्रकार की अधिकृत प्रचार सामग्री हटाई जाय। जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि निर्वाचन कार्यक्रम की योजना के चैबीस घंटे के अन्दर यह सुनिश्चित कर लें कि किसी भी राजनैतिक दल, उम्मीदवार या उनसे जुड़े अन्य व्यक्तियों द्वारा किसी प्रकार का विभागीय वाहन का प्रयोग नही किया जायेगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने जिले के अधिकारियों को आयोग से प्राप्त दिशा-निर्देश की जानकारी देते हुए कहा कि निर्वाचन व्यय लेखों का अनुश्रवण, पर्यवेक्षक एवं प्रभावी क्रियान्वयन के लिए नोडल टीम कार्य करना शुरू करें। उन्हांेने धरातल पर शुरू हो चुके कार्यो एवं अनारम्भ कार्यो की सूची भी विभागवार तलब की। उन्होंने कहा कि निर्वाचन सम्बन्धी आवश्यक जानकारी एवं सुविधाओं व शिकायत निराकरण के लिये कंट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए। जो प्रतिदिन चैबीस घंटे कार्य करता रहेगा।
    जिला निर्वाचन अधिकारी ने नोडलवार अध्यतन कार्य की समीक्षा की। स्वीप टीम को निर्देश दिए कि 1950 टोल-फ्री नम्बर का अधिकाधिक प्रयोग करवाया जाय। नोडल अधिकारी कार्मिक को प्रशिक्षण शेडयूल तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश बैठक में दिए। इसके अलावा मूमेण्ट प्लान चुनाव सामग्री, बूथ मैनेजमेन्ट पर समीक्षा करते हुए स्वीप टीम में डायट से कार्मिकांे को जुडने के निर्देश दिए तथा बूथ स्तर पर विद्युत एवं पानी की चैक चैबंध व्यवस्थाएं करने को कहा। बैठक में उपजिलाधिकारी रुद्रप्रयाग बृजेश तिवाडी, जखोली देवमूर्ति यादव, ऊखीमठ परमानन्द राम, वरिष्ठ कोषाधिकारी श्रीमती शशि सिंह सहित अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

बद्रीनाथ एवं केदारनाथ हाईवे को विकसित करने के लिए चारधाम यात्रा मार्ग पर नहीं दिखेंगे पीपड़ के पेड़

Spread the loveरुद्रप्रयाग।देवभूमि खबर।। बद्रीनाथ एवं केदारनाथ हाईवे को विकसित करने के लिए भगवान कृष्ण के प्रिय वृक्ष पीपल के पेड़ों की बलि दी जा रही है। अब तक अनगिनत पीपल के पेड़ों को काटा जा चुका है। चारधाम यात्रा के दौरान जिन पेड़ों के नीचे तीर्थयात्री और साधु-संत कुछ […]

You May Like