महाराष्ट्र सरकार खुले में शौच करने वालों को शर्मिंदगी महसूस कराने के लिए ओडीएफ निगरानी प्रणाली शुरू

Spread the love

मुम्बई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि सरकार ने खुले में शौच (ओडीएफ) करने वालों को शर्मिंदगी महसूस कराने के लिए ओडीएफ निगरानी प्रणाली शुरू की है। फड़णवीस शहरी महाराष्ट्र को खुले में शौच से मुक्त घोषित करने के लिए यहां आयोजित एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘शहरी महाराष्ट्र को खुले में शौच से मुक्त घोषित करना महज एक औपचारिकता नहीं है। त्रिस्तरीय सत्यापन प्रक्रिया अपनायी गयी है जहां खुले में शौच से मुक्त बनने वाले शहरों का पहले स्थानीय प्रशासन, फिर राज्य सरकार निरीक्षण करती है एवं आखिर में केंद्रीय एजेंसी उसे अपनी मंजूरी देती है।’’ उन्होंने कहा कि राज्य को खुले में शौच से मुक्त घोषित करने का लक्ष्य तबतक हासिल नहीं होगा जबतक लोगों की मानसिकता नहीं बदलती है।
 उन्होंने कहा, ‘‘अब हमारे हाथों में दोहरी जिम्मेदारी है। हमें लोगों को पिछले दो सालों में रिकार्ड संख्या में बने शौचालयों का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना होगा।’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमने ओडीएफ वाच नामक प्रणाली शुरू की है जिसके तहत लोगों को शौचालय का उपयोग करने के लिए बाध्य, प्रोत्साहित किया जाएगा। यदि वे खुले में शौच करते हैं तो एक सीटी बजायी जाएगी और लोगों को शौचालय का उपयोग नहीं करने के लए शर्मिंदा किया जाएगा।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों पर मल्यापर्ण करते हुये उन्हें अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किये

Spread the loveदेहरादून ।देवभूमि खबर।। प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेसजनों ने गांधी जयंती एवं लालबहादुर शास्त्री जयंती के अवसर प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय मे राष्ट्रपिता माहत्मा गॉधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्व। लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों पर मल्यापर्ण करते हुये उन्हें […]

You May Like