रुड़की15 दिन में पांच बच्चों की मौत

Spread the love
रुड़की ।देवभूमि खबर। रुड़की तहसील के टोड़ा अहतमालपुर गांव में संदिग्ध बीमारी से अब तक पाँच बच्चों की मौत की मौत हो चुकी है और करीब दस बच्चे अभी तक उपचाराधीन है। रुड़की के समीप टोडा अहतमाल पुर गांव में पिछले 15 दिन के अंदर एक संदिग्ध बीमारी ने पांच बच्चों को मौत के आगोश में ले लिया है। और करीब दस बच्चे अभी बीमारी की चपेट में है। अब जब बीमारी ने पैर पसारने कई दिन बाद अधिकारियों की आँखे खुली और मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. रविन्द्र थपलियाल, एसीएमओ डॉ. शशिकांत, एएमओ रीटा राठौर अन्य चिकित्सकों के साथ गाँव में पहुंचे और पीड़ित परिवारों के साथ ही बीमार बच्चों के परिजनों से मिले तथा अज्ञात बीमारी के संबंध में पड़ताल की और बीमार बच्चों का चौकअप किया। जाँच में बच्चों के गले में टांसिल व डिप्थिरिया बीमारी का होना बताया। इसके बाद तमाम बीमार बच्चों को उपचार के लिए सिविल अस्पताल भिजवाया। बाद में वह ग्राम प्रधान के साथ ही मौजिज लोगों व आशा कार्यकत्री से मिले तथा इस बीमारी की बाबत पूरी जानकारी जुटाई। मौके पर मौजूद आशा कार्यकत्री ने बताया कि वह टीकाकरण के लिए घर-घर घूमी लेकिन कुछ लोगों ने उन्हें टीकाकरण मंे सहयोग नहीं दिया। इस पर सीएमओ डॉ. रविन्द्र थपलियाल इस कमी को भी बीमारी का एक लक्षण बताया। वहीं ग्राम प्रधान अब्दुल वासित का कहना है कि टीकाकरण का जिम्मा आशा का होता हैं और उसने इस कार्य को बखूबी नहीं निभाया। तत्पश्चात् डॉ. रविन्द्र थपलियाल टीम के साथ मृतक बच्चों के परिजनों से मिले और उन्हें हर संभव सहयोग करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि अस्पताल भेजे गये बच्चों का समूचित उपचार और हर संभव सहयोग उनकी ओर से किया जायेगा। उन्होंने ग्रामीणों  को समझाया कि सरकार द्वारा चलाये जा रहे टीकाकरण का विरोध न कर उसका समूचित पालन करायें।
अचानक हुई बीमारी के कारण जिन बच्चों की मृत्यु हुई है उनके नाम इस प्रकार हैं।.7 वर्षीय उमर फारूख पुत्र सय्याद, 7 वर्षीय पुत्र अब्दुल आजाद, 7 वर्षीय हम्माद पुत्र अब्दुल वाजिद, 8 वर्षीय गुलनाज पुत्री मुस्तकीम व 4 वर्षीय मेहताब पुत्र नदीम। इन बच्चों को एक बीमारी ने अचानक अपनी गिरफ्त में लिया और इनकी मृत्यु हो गई।
जिस बीमारी के चलते पांच बच्चों ने दम तोड़ा है वहीं बीमारी गांव के अन्य बच्चों में भी हैं जिनमें 8 वर्षीय नवाजिश पुत्र शेख, 5 वर्षीय रिहान पुत्र इल्ताफ, 10 वर्शीय रहमान पुत्र नसीम, 10 वर्षीय हेनस पुत्र महमूद, 6 वर्षीय सद्दाम पुत्र जमशेद, 6 वर्षीय साकिम पुत्र वसीम, 16 वर्षीय सुल्ताना पुत्री शीटू व 16 वर्शीय सबिया पुत्री शीटू हैं। जिनका उपचार सिविल अस्पताल में किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

अंसारी गद्दी से उतरने के बाद एक धर्म के प्रतिनिधि बन गये : इंद्रेश

Spread the love मुसलमानों में असुरक्षा की भावना होने संबंधी पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के बयान को गैर वाजिब करार देते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के वरिष्ठ पदाधिकारी इंद्रेश कुमार ने कहा कि कुर्सी पर रहते हुए सर्व धर्म समभाव और 126 करोड़ भारतीयों की बात करने वाले अंसारी […]

You May Like