सबसे बड़े घोटालों में शुमार खाद्य घोटाले की गहनता से जांच की जायेगी:मुख्यमंत्री

Spread the love

पौड़ी।देवभूमि खबर। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत नेे कोटद्वार में आयोजित जनता दर्शन कार्यक्रम में उन्होंने भ्रष्टाचार तथा भ्रष्टाचारियों पर सख्त कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने राज्य में अब तक के सबसे बड़े घोटालों में शुमार खाद्य घोटाले की गहनता से जांच की जायेगी। सीएम ने प्रदेश में युवाओं को न्याय पंचायत स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने को कहा। इस मौके पर उन्होंने कहा कि 8 अक्टूबर को प्रदेश के विभिन्न राष्ट्रीय पार्कों में विद्युतीकरण का शुभारंभ किया जाएगा। कोटद्वार के सिटी मांटेसरी स्कूल के प्रांगण में आयोजित जनता दर्शन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने जनता के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुनी। प्रदेश के मुखिया को अपने बीच देख जनता ने शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी, आर्थिक सहायता, मुआवजा समेत विभिन्न समस्याएं मुख्यमंत्री को बताई। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि न्याय पंचातय स्तर पर युवाओं को रोजगार मुहैया कराने को लेकर भी योजना तैयार की जा रही है। मुख्यमंत्री ने पहाड़ों में शिक्षा तथा स्वास्थ्य के अभाव को पलायन का मुख्य कारण बताया। कहा कि पहाड़ों में लगातार हो रहे पलायन तथा गांवों को पुनः समृद्ध करने के लिए जिला मुख्यालय में ग्रामीण विकास एवं पलायन आयोग का गठन किया गया है। पहाड़ों में शिक्षकों तथा डाक्टरों की समस्या को शीघ्र ही निस्तारित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार गैर राजनीतिक दल की भांति प्रदेश के विकास तथा बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराने की रणनीति पर कार्य कर रही है। उन्होंने सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहले गरीब को दिये जाने की पैरवी की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पं. दीनदयाल उपाध्याय सहकारिता किसान कल्याण योजना के तहत लघु, सीमान्त एवं गरीब किसानों को दो प्रतिशत की ब्याज दर से दी जाने वाली दो लाख की धनराशि को और अधिक बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों की शिकायतों व समस्याओं के निस्तारण के लिए मुख्यमंत्री शिकायत समाधान केंद्र स्थापित किया गया है। इसके माध्यम से लोगें शिकातें व समस्याओं को मुख्यमंत्री स्वयं ही निस्तारित करेंगे। उन्होंने पिरूल से तारपीन के तेल निकालने की योजना को विगत 8 महीनों में क्रियांवित करने की बात कही। कहा कि इसके लिए देहरादून में एक सेंटर स्थापित किया जाएगा। राज्य के विभिन्न जगहों से 5 रूपये प्रति किग्रा की दर से पिरूल की खरीद की जाएगी। उन्होंने चमोली में मटर तथा लेमन ग्रास उत्पादन किये जाने को सराहनीय बताया। कहा कि इस प्रकार की फसलों को अन्य जिलों में भी बृहद स्तर पर उत्पादन किया जा सकता है। उन्होंने हिमांचल प्रदेश की तर्ज पर कृषि तथा बागवानी के माध्यम से स्वरोजगार को अपनाये जाने को कहा। उन्होंने कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों में स्वैच्छिक चकबंदी को बढ़ावा देने की योजना पर भी कार्य किया जा रहा है। इसके तहत पंचुर, खैरा तथा लखोली गांव में चकबंदी शुरू की जा चुकी है। इसके अलावा सीमांत क्षेत्रों में अखरोट की चार हजार पौध निःशुल्क वितरित की जाएगी। इस मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, क्षेत्रीय विधायक डा. हरक सिंह रावत, लैंसडोन विधायक महंत दलीप रावत, प्रदेश मंत्री रवींद्र सिंह, जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुमन कोटनाला, नगर पालिका अध्यक्ष रश्मि अग्रवाल, शशी नैनवाल, दलीप सिंह रावत, शैलेंद्र सिंह बिष्ट, राजेंद्र नथवाल, सुनील गोयल, मुन्ना लाल, जिला प्रशासन की ओर से जिलाधिकारी सुशील कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जेआर जोशी, अपर जिलाधिकारी राजजी शरण शर्मा, एसडीएम कोटद्वार राकेश तिवारी समेत पार्टी पदाधिकारी व विभिन्न क्षेत्रों के जन प्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

एमआई-17 हेलीकॉप्टर का टेल रोटर निकलना कारण हुआ था दुर्घटनाग्रस्त

Spread the loveहिंडन। हाल ही में अरुणाचल प्रदेश के तवांग में वायुसेना का एमआई-17 हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे का कारण हेलीकॉप्टर का टेल रोटर निकलना हो सकता है। ऐसा कहना है वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ का। आपको बता दें कि हेलीकॉप्टर के पिछले हिस्से में लगा टेल […]

You May Like