हनीप्रीत फिर भेजी गई 3 दिन की पुलिस रिमांड पर

Spread the love

पंचकूला। पंचकूला हिंसा मामले में गिरफ्तार डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की मुंहबोली बेटी व राजदार हनीप्रीत व उसी के साथ गिरफ्तार सुखदीप कौर का पुलिस रिमांड मंगलवार को खत्म हुआ। इसके बाद उन्हें अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें फिर से तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।
पंचकूला पुलिस ने नौ दिन के रिमांड की मांग करते हुए कहा कि हनीप्रीत का मोबाइल कवर किया जाना है। साथ ही डॉक्टर आदित्य पावन और गोभी राम को हनीप्रीत की निशानदेही पर गिरफ्तार किया जाना है, इसलिए उसका 9 दिन का रिमांड दिया जाए, लेकिन बचाव पक्ष के वकील एसके गर्ग नरवाना ने इस बात का विरोध करते हुए कहा कि पहले ही एक महिला का 6 दिन का रिमांड लिया जा चुका है। इन दिनों में भी पुलिस को कुछ नहीं मिला तो 9 दिन में क्या ढूंढ लेगी, लेिकन कोर्ट ने हनीप्रीत को 3 दिन के रिमांड पर भेज दिया
इससे पूर्व, आज रिमांड खत्म होने से पहले पुलिस विपासना व हनीप्रीत को एक साथ पूछताछ करने की तैयारी में थी, लेकिन विपासना ने स्वास्थ्य कारणों से आज जांच में शामिल होने से इन्कार कर दिया। अब पुलिस को उसका दोबारा रिमांड मिला है। पुलिस इस दौरान दोनों से आमने-सामने की पूछताछ कर सकती है।
एसआईटी ने समन देकर विपासना को सेक्टर-23 थाने में जांच के लिए बुलाया था। पुलिस विपासना अौर हनीप्रीत को आमने-सामने बैठा कर पूछताछ करना चाहती थी। इसके साथ ही पुलिस विपासना से पंचकूला हिंसा को लेकर भी पूछताछ करने वाली थी।
विपासना हनीप्रीत को पसंद नहीं करती थी और वह हमेशा यही चाहती थी कि हनीप्रीत का डेरे में दखल न हो। पंचकूला पुलिस ने हनीप्रीत से कोई सुराग न मिलने के चलते विपासना को नोटिस देकर पंचकूला बुलाया था। विपासना ने पुलिस को कंफर्म भी किया था कि वह आएगी, लेकिन एेन मौके पर उसने अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर आने से मना कर दिया।

विपासना और हनीप्रीत के बीच छत्तीस का आकड़ा माना जाता है। एक तरफ जहा हनीप्रीत ने खुद को गुरमीत राम रहीम की असली वारिस होने का ऐलान कर डाला था। वहीं गुरमीत के जेल जाने के बाद से विपासना कहती आ रही थी कि हनीप्रीत का डेरा सच्चा सौदा से कोई लेना-देना नहीं है और न ही उसकी कोई हिस्सेदारी है। खुद विपासना भी नहीं चाहती है कि हनीप्रीत का अब डेरे में कोई दखल हो। इसी खींचतान के बीच अब हनीप्रीत के सामने विपासना को बैठाया जाएगा जिसमें पुलिस डेरे से संबंधित और पंचकूला में हुए दंगों के बारे में कई सवाल पूछेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

उत्तराखंड में सामने कुमाऊं मंडल में एक और खाद्यान्न घोटाले का खुलासा

Spread the loveदेहरादून ।देवभूमि खबर। ऊधमसिंह नगर जिले के बाद कुमाऊं मंडल में एक और खाद्यान्न घोटाले का खुलासा ऑडिट रिपोर्ट में हुआ है। पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों के विभिन्न सरकारी गोदामों में खाद्यान्न बांटने में जमकर धांधली बरती गई। तय राशनकार्डो की संख्या से ज्यादा अपात्रों को करोड़ों की […]

You May Like