एड्स दिवस पर निकाली गयी जागरूकता रैली

Spread the love

अल्मोड़ा ।देवभूमि खबर। मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित ने समस्त विभागाध्यक्षों को एक परिपत्र भेजकर निर्देश दिये है कि वे अपने विभाग से सम्बन्धित जी0आई0एस0 डाटाबेस तुरन्त आपदा प्रबन्धन विभाग को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि पूर्व में सभी विभागों को निर्देश दिये गये थे लेकिन अभी तक 18 विभागों द्वारा सम्बन्धित डाटाबेस की सूचना आपदा विभाग को उपलब्ध नही करायी गयी है। जिनमें से सहकारिता, पंचायतीराज, आबकारी, लीड बैंक,विद्युत विभाग, उद्योग विभाग, अल्प बचत, निर्वाचन, बाल विकास, दुग्ध विकास, पूर्ति, मत्स्य, स्वास्थ्य, क्रीड़ा, वन विभाग, पंचस्थानीय, पेयजल निगम, जल संस्थान है। उन्होंने निर्देशित किया है कि सम्बन्धित विभाग के अधिकारी जी0आई0एस0 सैल में भिज्ञ कर्मचारी द्वारा समय सारणी के अनुसार अद्यतन कराने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित कराना सुनिश्चित करे। उन्होंने बताया कि जनपद के 51 विभागांे के लिये जी0आई0एस0 सैल में उपस्थित रहने हेतु एक रोस्टर 08 फरवरी तक बनाया गया है। जिसमें तिथियॉ व समय निर्धारित किया गया है। तदनुसार अधिकारी उपस्थित होना सुनिश्चित करेंगे। वहीं दूसरी ओर असुरक्षित यौन सम्बन्ध एड्स का प्रमुख कारण है यह बात विश्व एड्स दिवस के अवसर पर प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सविता हयांकी ने आज विश्व एड्स दिवस पर निकाली गयी जागरूकता रैली को हरी झण्डी देखते हुये कही। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वर्ष 01 दिसम्बर को विश्व एड्स दिवस मनाया जाता है जिसका उददेश्य एड्स के प्रति जागरूक करना है। जागरूकता के तहत लोगों को एड्स के लक्षण एवं इससे बचाव, उपचार, कारण इत्यादि के बारे में जानकारी दी जाती है और कई अभियान चलाये जाते है जिससे इस महामारी को जड़ से खत्म करने के प्रयास किये जा सके। एड्स के पीछे कई कारण है जैसे एच0आई0वी0 पॉजीटिव लोगों के साथ भेदभाव करना, लोगों में जागरूकता की कमी होना, लोगों के मन में एड्स को लेकर तरहतरह के भ्रम होना और असुरक्षित यौन सम्बन्ध बनना इत्यादि। उन्होंने कहा कि एड्स से बचाव के लिये उपायों के अपनना यथा सैक्स सम्बन्ध बनाने समय सुरक्षित सैक्स को प्रथमिकता दें ताकि भविष्य में होने वाले खतरे को टाल सके। उन्होंने बताया कि विश्व एड्स दिवस की शुरूआत 01 दिसम्बर 1988 को हुई थी जिसका मकसद एच0आई0वी0 एड्स से ग्रसित लोगों की मदद के लिये धन जुटाना, लोगों में एड्स को रोकने के लिये जागरूकता फैलाना और शिक्षित कराना था। डा0 हयंाकी ने बताया कि जनपद में जागरूकता फैलाने के लिये निबन्ध व वादविवाद प्रतियोगितायें आयोजित की गयी और आज स्थानीय विद्यालयों यथा राजकीय इण्टर कालेज अल्मोड़ा, राजकीय बालिका इण्टर कालेज अल्मोड़ा, एडम्स इण्टर कालेज अल्मोड़ा एंव ए0एन0एम0ट्रेनिंग कालेज की छात्राओं द्वारा स्थानीय चौद्यानपाटा से होकर पुलिस कार्यालय होते हुये थाना बाजार, लाल बाजार के बाद नन्दादेवी तक निकाली गयी। इस अवसर पर डा0 ए0के0सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 योगेश पुरोहित, डा0 आर0एस0 शाही, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक प्रकाश वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक बेस चिकित्सालय डा0 एच0सी0 गढ़कोटी, डा0 ललित पाण्डे, हिमाशु मस्यूनी, हिमानी जोशी सहित सम्बन्धित विद्यालयों के शिक्षकशिक्षिकायें उपस्थित थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

सगंध फार्मिंग के माध्यम से होगा बंजर खेतों का पुनरुद्धारः सीएम

Spread the loveदेहरादून ।देवभूमि खबर। मुख्यमंत्री आवास में ही सर्वप्रथम राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गई पर्यावरण सरंक्षण, जल संरक्षण व संचय आदि पहलों को प्रभावी रूप से लागू किया जाना चाहिये। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित उद्यान का विस्तृत निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने […]

You May Like