राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एन.ए.एस.) परीक्षा का आयोजन 13 नवम्बर को

Spread the love
बागेश्वर ।देवभूमि खबर। राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद(एन.सी.ई.आर.टी.) द्वारा सरकारी विद्यालयों में विद्यार्थियों के पढाई के स्तर का मूल्यांकन करने के लिए 13 नवम्बर को देश के सभी राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एन.ए.एस.) परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। इस परीक्षा में तीसरी, पॉंचवी, तथा आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों का राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण कराया जायेगा। जिलाधिकारी रंजना ने परीक्षा के सफल संचालन हेतु जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान बागेश्वर के सभागार में शिक्षा विभाग तथा राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण की तैयारियों के सम्बन्ध में चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि सर्वेक्षण का उद्देश्य शिक्षा प्रणाली के अन्तर्गत शासकीय और शासकीय अनुदान प्राप्त विद्यालयों की प्रगति को समझना है। प्राईमरी शिक्षा के तहत छात्र-छात्राओं का मूल्यांकन व सीखने के प्रतिफलों को बेहतर बनाया जाना है। उन्होंने एनसीईआरटी द्वारा सैंपल के तौर पर जनपद के चयनित सभी स्कूलों में परीक्षा के आयोजन हेतु मुख्य शिक्षा अधिकारी को आवश्यक व्यवस्थाऐं सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। कहा कि राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण के तहत परीक्षा में बैठने के लिए प्रत्येक छात्र-छात्रा का आधार नम्बर होना जरूरी है इसके लिए 30 अक्टूबर तक परीक्षा में सम्मिलित होने वाले सभी विद्यार्थियों के आधार कार्ड बनाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने परीक्षण की तिथि को चयनित विद्यालयों में विद्यार्थियों एवं अध्यापकों की शतप्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। परीक्षण से सम्बन्धित किसी भी सामग्री की गोपनीयता बनाये रखने के निर्देश दिये। परीक्षा हेतु नियुक्त पर्यवेक्षकों को आवश्यक प्रशिक्षण देने के निर्देश दिये। मुख्य शिक्षा अधिकारी एवं जिला समन्वयक हरीश चन्द्र सिंह रावत ने बताया कि राश्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण के लिए जिले में 173 विद्यालयों का चयन किया गया है जिसमें कक्षा तीन एवं कक्षा पॉंच के 6161 तथा कक्षा आठ के 51 विद्यालय शामिल हैं। देश के सभी राज्यों में 13 नवम्बर को यह सर्वे होगा। उन्होंने बताया कि जनपद से कक्षा तीन की चयनित 61 विद्यालयों के 466 विद्यार्थी, कक्षा पॉंच के 61 विद्यालयों के 590 विद्यार्थी,तथा कक्षा आठ के चयनित 51 स्कूलों के 1245 विद्यार्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे। उन्होंने बताया कि कक्षा तीन एवं कक्षा पॉंच के लिए हिन्दी, गणित एवं पर्यावरण जबकि कक्षा आठ के लिए हिन्दी, गणित विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान विशय का चयन किया गया हैं। उन्होंने बताया कि कक्षा तीन एवं कक्षा पॉंच के विद्यार्थियों को चयनित विशयों पर 45 प्रश्नों का प्रश्न पत्र दिये जायेंगे। कक्षा आठ में चयनित विषयों पर आधारित 60 प्रश्नों के प्रश्न पत्र दिये जायेंगे। सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे। कक्षा तीन एवं पॉंच के विद्यार्थियों को प्रश्न पत्र में अंकित सही उत्तर पर टिक करना होगा। जबकि कक्षा आठ के विद्यार्थियों को ओएमआर सीट पर प्रश्नों के उत्तर भरने होंगे। प्रश्न पत्रों का मूल्यांकन डायट स्तर पर होगा और जिला स्तर पर रिर्पोट तैयार की जायेगी। टैस्ट की रिर्पोट में आने वाली कमियों को दूर करने के लिए एनसीईआरटी द्वारा प्रोग्राम तैयार किया जायेगा तथा जिस विशय में बच्चे कमजोर हैं उसे बच्चों की समझ के अनुसार आसान बनाया जायेगा। उन्होंने बताया कि सर्वेक्षण के परिणाम के आधार पर अकादमिक और शैक्षणिक नियोजन में मदद होगी। डायट के प्राचार्य डा0के0एस0 रावत ने सर्वेक्षण के बारे में विस्तार से जानकारी दीं। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी राहुल गोयल,मुख्य शिक्षा अधिकारी हरीश चन्द्र सिंह रावत, उपजिलाधिकारी बागेश्वर श्याम सिंह राणा, उपजिलाधिकारी गरूड सुन्दर सिंह,जिला शिक्षा अधिकारी आकाश सारस्वत, बी0ई0ओ0 विजेन्द्र जोशी, उपशिक्षा अधिकारी पूनम चौहान,खण्ड विकास अधिकारी बी.सी. पन्त,तहसीलदार दयाचन्द्र टम्टा,उपखण्ड शिक्षा अधिकारी आर.सी. मौर्या,बी.ई.ओ. जी.पी.कुनीयाल, बीईओ नन्दकिशेार आर्या, प्रधानाचार्य प्रमोद तिवारी,आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

विभिन्न मांगों को लेकर ठेकेदार का आंदोलन शुरू

Spread the loveरुद्रप्राग ।देवभूमि खबर। पांच सूत्रीय मांगों को लेकर केदारनाथ लोनिवि ठेकेदार समिति ने तहसील मुख्याल ऊखीमठ में जोरदार प्रदर्शन कर एक दिवसीय सामूहिक उपवास रखा। शुक्रवार से समिति अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करेगी। पांच सूत्रीय मांगों को लेकर केदारनाथ लोनिवि पंजीकृत ठेकेदार समिति ने मुख्य बाजार में प्रदर्शन किया […]