वक्फ बोर्ड की सम्पत्तियों से हटाया जाए अतिक्रमणः आर्य

Spread the love

देहरादून।देवभूमि खबर। प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण परिवहन, समाज कल्याण, छात्र कल्याण, ग्रामीण तालाब विकास, सीमान्त क्षेत्र विकास, परिक्षेत्र विकास एवं प्रबन्धन, पिछड़ा क्षेत्र विकास मंत्री यशपाल आर्य ने विधान सभा स्थित कार्यालय कक्ष में अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की समीक्षा बैठक की।
बैठक में आर्य ने वक्फ बोर्ड की सम्पत्तियों में अतिक्रमण वाले कतिपय प्रकरणों पर प्रभावी पैरवी करने के निर्देश मुख्य कार्यपालक अधिकारी वक्फ बोर्ड को दिये। उनका कहना था कि वक्फ बोर्ड की सम्पत्तियों के ट्रिब्यूनल, उच्च न्यायालय एवं उच्चतम न्यायालय में चल रहे प्रकरणों पर प्रभावी पैरवी न होने के कारण हानि उठानी पड़ रही है। उन्होंने हिदायत दी कि विभिन्न न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों के तेजी से निपटारे के लिए आवश्यकतानुसार अनुभवी वकीलों से सहायता ली जाय तथा कतिपय मामलों में जहां काबिजों से संवाद द्वारा समाधान निकल सके, ऐसे प्रकरणों में संवाद का सहारा भी लिया जायं। ज्ञातव्य है, कि प्रदेश में वक्फ बोर्ड की कुल 2063 वक्फ सम्पत्तियां रजिस्टर्ड है। उन्होंने वक्फ बोर्ड में आवश्यक खाली पदों की मांग का प्रस्ताव कैबिनेट में लाने के निर्देश निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण विभाग को दिये।
उन्होंने वक्फ बोर्ड की सम्पत्तियों की अद्यतन स्थिति तथा अब तक की गयी कार्यवाही का भी विवरण मुख्य अधिशासी अधिकारी से तलब किया। उन्होंने मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक मेधावी छात्रा योजना का शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने के निर्देश दिये। इस योजना मंे ऐसे पात्र आवेदित अल्पसंख्यक मेधावी छात्राओं को 10 से 25 हजार तक का अनुदान दिया जाता है, जो हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की परीक्षा में 60 प्रतिशत अथवा इससे अधिक अंकों से उत्तीर्ण हैं। गत् वर्ष 417 छात्राओं को योजना से लाभान्वित किया गया। इस वर्ष योजना के अन्तर्गत 450 आवेदन प्राप्त हुए है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऐसे मदरसे जिनमें शौचालय की सुविधा नहीं है वहां मौलाना आजाद फाउण्डेशन योजना के अन्तर्गत शौचालय निर्माण का कार्य शीघ्र कराया जाय। उन्होंने अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा संचालित योजना के अन्तर्गत स्वीकृत योजनाओं का शिलान्यास कार्यक्रम गढवाल एवं कुमाऊं मण्डल में शीघ्र कराने के निर्देश दिये। गढवाल में देहरादून तथा कुमांऊ में उधमसिंह नगर में शिलान्यास कार्यक्रम प्रस्तावित है। इस योजना में 11 परियोजनाओं का शिलान्यास किया जायेगा, जिनमें पॉलीटेक्निक हॉस्टल, पेयजल योजना एवं विद्यालय भवन परियोजनाएं शामिल है।
बैठक में अल्पसंख्यक कल्याण विभाग निदेशक आलोक शेखर तिवारी, मुख्य कार्यापालक अधिकारी उत्तराखण्ड वक्फ बोर्ड मो. अब्दुल अलीम अन्सारी, उपनिदेशक रईस अहमद, महाप्रबंधक अल्पसंख्यक निगम चन्द्रलाल उपस्थित थे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

आपदा जोखिम दूर करने में समुदाय जागरूकता प्रशिक्षण की भूमिका महत्‍वपूर्ण : श्री हंसराज गंगाराम अहीर

Spread the loveकेन्‍द्रीय गृह राज्‍य मंत्री श्री हंसराज गंगाराम अहीर ने कहा है कि आपदा जोखिम दूर करने में समुदाय जागरूकता प्रशिक्षण महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। गृह राज्‍य मंत्री आज आपदा जागरूकता तथा प्रबंधन से संबंधित कार्यक्रम में स्‍कूली बच्‍चों को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि स्‍कूलों और […]

You May Like