उत्तराखण्ड खेल प्रतिभाओं की खान है:राज्यवर्द्धन सिंह राठौर

Spread the love
देहरादून ।देवभूमि खबर। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को नई दिल्ली में केंद्रीय खेल राज्य मंत्री कर्नल राज्यवर्द्धन सिंह राठौर से भेंट की। केंद्रीय खेल राज्य मंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड खेल प्रतिभाओं की खान है। उत्तराखण्ड में इन्फ्रास्टक्चर को सुनियोजित विकास से खेलों में उत्तम परिणाम मिल सकते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र के अनुरोध पर उत्तराखण्ड में सूटिंग रेंज स्थापित करने की सहमति प्रदान की। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि जनपद नैनीताल के हल्द्वानी में निर्माणाधीन अन्तर्राष्ट्रीय स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में सभी खेल सुविधाओं को विकसित किया गया है। इसमें अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट स्टेडियम, इन्डोर स्टेडियम, स्वीमिंग पुल, आउट डोर स्पोर्ट्स फील्ड स्थापित किये गये हैं। मुख्यमंत्री ने हल्द्वानी में कॉलेज ऑफ स्पोर्ट्स कोचिंग एवं स्पोर्ट्स मैनेजमेंट स्थापित किये जाने का अनुरोध केंद्रीय खेल मंत्री से किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने बताया कि पौड़ी के रांसी में आउटडोर स्टेडियम का निर्माण किया गया है। इस स्टेडियम में 400 मीटर का एथलेटिक्स ट्रैक, पवेलियन, खिलाड़ियों के लिए हॉस्टल का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया। रांसी स्टेडियम समुद्रतल से 6000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर स्थित होने के दृष्टिगत पौड़ी में हाई एल्टीट्यूड सेंटर खोले जाने का भी अनुरोध उन्होंने किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड में होने वाले 38 वें राष्ट्रीय खेलों के लिए अवस्थापना सुविधाओं के निर्माण, अवस्थापना सुविधाओं के सृजन एवं प्रबंधन हेतु प्रस्ताव युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय को भेजा गया है। भेंट के दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र एवं खेल मंत्री कर्नल राठौर के मध्य देहरादून स्थित महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स स्टेडियम में किस तरह से आगे काम किये जा सकते हैं। विशेषकर क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए इस स्टेडियम में कौन-कौन सी ट्रॉफियां आयोजित की जा सकती हैं विषय पर भी चर्चा हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

खेती में हो रहा नुकसान पर्वतीय क्षेत्रों से लोगों के पलायन का एक प्रमुख कारण बन रहा है:सीएम

Spread the loveदेहरादून ।देवभूमि खबर। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को नई दिल्ली में केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से भेंट की। भेंट के दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने प्रदेश में वन भूमि हस्तांतरण तथा क्षतिपूर्ति सम्बंधी प्रावधानों में सरलीकरण, डिग्रेडेड फोरेस्ट लेण्ड ही क्षतिपूर्ति वृक्षारोपण के लिये उपलब्ध […]

You May Like