उत्तराखण्ड में स्थापित होगी देश की पहली राजकीय सैक्स सोर्टेड सीमन प्रयोगशाला

Spread the love

फो

देहरादून।देवभूमि खबर। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने अतिहिमीकृत वीर्य उत्पादन केन्द्र श्यामपुर, ऋषिकेश में राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना के अन्तर्गत सैक्स सोर्टेड सीमन प्रयोगशाला का शिलान्यास किया। उत्तराखण्ड राज्य में स्थापित ैमग ैमउमद केन्द्र देश का प्रथम राजकीय संस्थान होगा। जहां पर पशुओं में कृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से मादा बछिया उत्पन्न किये जाने की तकनीक विकसित की जायेगी, जिसका सीधा लाभ राज्य के पशुपालकों के दुग्ध उत्पादन में वृद्धि एवं कृषकों की आय दोगुनी करने में प्राप्त होगा।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय गोकुल मिशन देशी नस्ल के गौ वंश का संरक्षण कर उनकी दुग्ध उत्पादकता को बढ़ाना है। ऋषिकेश में स्थापित की जा रही सीमन प्रयोगशाला की इसमें महत्वपूर्ण भूमिका होगी। पशुपालन के माध्यम से किसानों की आय वृद्धि के लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। राज्य सरकार का प्रयास है कि वर्ष 2021 तक ऐसी व्यवस्था कर ली जाए जिससे हमारे गौवंश सड़कों पर आवारा न घूमें बल्कि किसानों की आजीविका के साथी बनें। बद्री नस्ल की गायों की दुग्ध उत्पादकता बढ़ाने में कुछ सफलता प्राप्त हुई है। इसे और अधिक बढ़ाने की कोशिश की जा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ऋषिकेश में अंतरराष्ट्रीय स्तर का कन्वेंशन सेंटर स्थापित किया जाएगा। उत्तराखण्ड को देश के अग्रणी राज्यों की पंक्ति में लाने के गम्भीरता से प्रयास किए जा रहे हैं। पीएमजीएसवाई में राज्य में लक्ष्य से 200 किमी अधिक सड़क का निर्माण किया गया है। पर्वतीय गर्वमेंट ई मार्केट व बेस्ट फिल्म फ्रेंडली राज्य के रूप में भारत सरकार द्वारा सम्मानित किया गया है। दुर्गम क्षेत्रों में इंटरनेट की उपलब्धता के लिए एयरोस्टेट बैलून का सफल परीक्षण किया गया है। उत्तराखण्ड पहला राज्य है जो इस तकनीक का उपयोग करने जा रहा है।
केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार किसानों के कल्याण के लिए पिछले 4 सालों में पूर्ण समर्पण के साथ कार्य कर रही है। सरकार के प्रयासों से देश के 700 से अधिक कृषि वैज्ञानिक लैब से निकलकर जमीनी परीक्षण के लिए फील्ड लेवल तक पहुंचाए हैं। उन्होंने कहा कि पशुपालन, गाँव की आर्थिकी की रीढ़ है। हमारा देश पशुपालन में पहले पायदान में होने के बावजूद यहां उत्पादकता में कमी है। हमें वार्षिक वृद्धि दर के साथ-साथ उत्पादन बढ़ाने पर जोर देना है। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल, सांसद डाॅ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ पशुपालन राज्य मंत्री रेखा आर्या एवं उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत भी उपस्थित थे।
——————————————————

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

राज्य कैबिनेट बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए

Spread the love देहरादून।देवभूमि खबर।राज्य कैबिनेट बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। बैठक में शिक्षा विभाग में 2018-19 के सत्र के लिए डीबीटी योजना में टेंडर प्रक्रिया के तहत बड़ा फैसला लिया गया है। पुस्तकें प्रकाशित करने के लिए टेंडर प्रक्रिया में यूपी के प्रशासकों को आमंत्रित किया जाएगा। […]

You May Like