देहरादून।देवभूमि खबर। अपनी समस्याओं के समाधान के लिए कैब, टैक्सी वर्कर्स यूनियन ने आरटीओ कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए अनिश्चितकालीन धरना आज दूसरे दिन भी जारी रहा। उनका कहना है कि शीघ्र ही समस्याओं का निदान नहीं किया गया तो आंदोलन को तेज किया जायेगा।
यहां यूनियन से जुड़े हुए संचालक आरटीओ कार्यालय में इकटठा हुए और अपनी समस्याओं के समाधान के लिए आरटीओ कार्यालय पर प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गये। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान में मैक्सी कैब, टैक्सी आदि वाहनों पर वाहन फिटनेस के समय पर लगाये जाने वाला स्पीड गवर्नर की बाध्यता को तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाना चाहिए। वक्ताओं ने कहा कि लगातार संघर्ष करने के बावजूद आज तक समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है।
वक्ताओं का कहना है कि यह उपकरण पहाड़ों में लागू नहीं होना चाहिए और पहाडों पर मोड ही मोड है जिसकी वजह से वाहन स्पीड 40-50 किमी से अधिक नहीं होती है। उत्तराखंड राज्य में संचालित होने वाले सभी वाहन मैक्सी कैब, टैक्सी की फिटनेश की अविध कम से कम एक वर्ष होनी चाहिए। वाहन स्वामी से परमिट नवीनीकरण के समय लाॅग बुक न भरे जाने के नाम पर, दंड धनराशि की वसूली रोकी जाये। वक्ताओं का कहना है कि मैक्सी कैब, टैक्सी के लैग गार्ड आदि को यथावत रखा जाये और नवीनकरण के समय वाहन स्वामी, चालक से भुगते गये चालानों के भुगतान पर रोक लगाई जाये।
वक्ताओं का कहना है कि पर्वतीय मार्गों पर बारह महीने चलने वाले सभी वाहनों हेतु ग्रीन कार्ड की अनिवार्यता के नाम पर अवैध वसूली रोकी जाये और वाहनों का यात्री कर बिना सरचार्ज के जमा करने की सुविधा प्रदान की जाये। उनका कहना है कि पहाडी मार्गों पर चलने वाली मैक्सी कैब टैक्सी वाहन में जनहित को देखते हुए सभी सीटों को सामने की ओर मुंह वाली सीटों की अनिवार्यता को समाप्त किया जाये।
उनका कहना है कि वाहन स्वामी एवं चालकों का विभाग द्वारा किये जा रहे उत्पीड़न को तत्काल प्रभाव से बंद किया जाये। उनका कहना है कि इस अनिश्चितकालीन धरने को समस्याओं के समाधान होने तक जारी रखा जायेगा। उनका कहना है कि अब आर पार का आंदोलन चलाया जायेगा। इस अवसर पर धरने व प्रदर्शन में यूनियन अध्यक्ष शेर सिंह राणा, महामंत्री लेखराज, उपाध्यक्ष महेन्द्र सामवेदी, प्रदीप चैधरी सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here