उत्तरायणी मेला 2024 की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने जनप्रतिनिधियों , अधिकारियों के साथ की बैठक

Spread the love

बागेश्वर ।जिलाधिकारी अनुराधा पाल की अध्यक्षता में ऐतिहासिक, धार्मिक व पौराणिक उत्तरायणी मेला 2024 की तैयारियों को लेकर जनपद के जनप्रतिनिधियांे, गणमान्य व्यक्तियों, व्यापारियों तथा विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में विभिन्न व्यवस्थाओं को लेकर लोगों के सुझाव लिए गए तथा विचार विमर्श किया गया। बैठक में तय किया गया कि इस वर्ष उत्तरायणी मेला 07 दिन कराया जाएगा, जिसका शुभारंभ 14 जनवरी व समापन 20 जनवरी को होगा। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने उच्च न्यायालय का हवाला देते हुए सरयू बगड़ में लगने वाली दुकानांे के लिए अन्यत्र स्थान चयनित के लिए भी सुझाव लिए।

जिला कार्यालय सभागार में उत्तरायणी मेले की तैयारी सम्बन्धी बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी अुनराधा पाल ने कहा कि उत्तरायणी मेला बागेश्वर की पहचान है, मेले को षान्तिपूर्वक, साफ एवं स्वच्छ सम्पन्न कराने के लिए सभी का सहयोग होना जरूरी है। मेले की महत्ता को संरक्षित करते हुए इसका आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बागनाथ मन्दिर की सजावट पुष्पों से की जायेगी। साथ ही मंदिर परिसर के आस-पास भवनों सहित पुलों को विद्युत मालाओं से सजाया जायेगा। मेले को भव्य रूप देने के लिए पूरी कोशिश की जायेगी ताकि बाहर से आने वाले लोग भी अच्छा संदेश लेकर जाएं। मेले की व्यवस्थाओं पर आपस में विचार विमर्श कर मेले को आकर्शक एवं भव्य रूप देने का पूरा प्रयास किया जाएगा। मेले में स्थानीय कलाकारों को पारम्परिक विधाओं को उजागर करने का मौका मिलना चाहिए तथा झोड़ा, चांचरी, छपेली,स्थानीय सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी प्राथमिकता के साथ होगा। उन्होंने कहा मेले को भव्य एवं आकर्षक बनाने के लिए सभी विभागों द्वारा नुमाईशखेत मैदान में स्टाॅल लगाये जाएंगे।
इस दौरान दर्जा राज्यमंत्री शिव सिंह बिष्ट व विधायक पार्वती दास ने उत्तरायणी मेले को भव्य एवं दिव्य बनाने के लिए सभी के सहयोग की अपेक्षा करते हुए सामंजस्य के साथ कार्य करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि यातायात के साथ ही सुरक्षा व्यस्था दुरूस्त की जाय।

यातायात व्यवस्था पर उपजिलाधिकारी बागेश्वर/मेलाधिकारी मोनिका ने कहा कि मेला अवधि में कपकोट-भराडी एवं रीमा को संचालित होने वाली वाहन पिण्डारी मोटर मार्ग स्थित टैक्सी स्टैण्ड से, काण्डा की ओर जाने-आने वाले वाहन मण्डलसेरा बाईपास से तथा गरूड को जाने-आने वाले बागेश्वर बस स्टैण्ड से ताकुला की ओर से आने-जाने वाले वाहन ताकुला मोटर मार्ग पेट्रोल पम्प तिराहे से संचालित होती है। बैठक में तय किया गया कि यातायात व्यवस्था इस प्रकार हो कि मेलार्थियों व श्रृद्धालुओं के आवागमन में किसी तरह की अनावश्यक परेशानियों का सामना न करना पडे तथा जाम की स्थिति भी उत्पन्न न होने पाए।
सांस्कृतिक झाॅंकियों के संचालन के समय वाहनों का आवागमन बन्द रखेंगे इसके लिए पुलिस विभाग को निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने सफाई व्यवस्था पर चर्चा करते हुए अधिषासी अधिकारी नगर पालिका सहित अधिशासी अभियंता लोनिवि, सिंचाई व एनएच को मेला षुरू होने से पूर्व सड़कों, नालियों, गलियों,मेला क्षेत्र,नदी तट,घाटों ,मन्दिरों आदि की पर्याप्त सफाई व्यवस्था के निर्देश दिए। अधिशासी अभियन्ता लोनिवि/ सिंचाई को नदी के तटबंधों की सफाई,रंगरोगन व रैलिंग आदि बनाने की कार्यवाही समय से सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। मेले के दौरान सफाई व्यवस्था दूरस्थ रखने हेतु जिलाधिकारी ने कहा कि मेले में सफाई व्यवस्था महत्वपूर्ण मुद्दा है इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय। पर्याप्त षौचालय व्यवस्था के भी निर्देश दिए। बैठक में मेला अवधि में आवागमन हेतु सरयू एवं गोमती नदी में एक-एक अस्थाई पुलों के निर्माण करने पर सहमती बनी। पेयजल व्यवस्था सुचारू बनाये रखने हेतु जलसंस्थान निर्देश दिए।

मेला अवधि में अधि0अभि0 विद्युत को विद्युत आपूर्ति सुचारू बनाये रखने के निर्देश दिए तथा जहां जहां भी विद्युत व्यवस्था की जाती है उसे समय से पूर्ण करने को कहा गया। मेले के दौरान आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिष्चित करने हेतु जिला पूर्ति विभाग को निर्देशित किया गया। सर्वसम्मति से तय किया गया कि विभागीय प्रदर्शनी एवं स्टालों का निर्माण नुमाईशखेत मैदान में किया जायेगा। सांस्कृृतिक कार्यक्रमों के आयोजन हेतु स्थानीय कलाकारों को महत्व देने पर चर्चा की गई तथा उपलब्ध बजट के अनुसार कलाकारों को आमं़ित्रत करने पर सहमति बनी।
खेलकूद प्रतियोगिता के आयोजन हेतु जिला क्रीडा अधिकारी को मेले के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताऐं आयोजित करने के निर्देश दिए गए। सेना के बैंड के माध्यम से मेले के स्वरूप को और भव्य एवं आकर्षण बनाने के लिए सैनिक कल्याण अधिकारी को पत्राचार करने के निर्देश दिए गए। मेले के दौरान शान्ति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु पुलिस विभाग को पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की तैनाती के लिए कहा गया।

बैठक में जिला पंचायत उपाध्यक्ष नवीन परिहार, निवर्तमान पालिकाध्यक्ष सुरेश खेतवाल, पुलिस अधीक्षक अक्षय कोंडे, मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, उपजिलाधिकारी मोनिका, अनुराग आर्या, दलीप सिंह खेतवाल नरेंद्र खेतवाल,, चैयरमेन रेडक्रास संजय शाह जगाती, गोविंद ंिसंह भण्डारी, जयन्त भाकुनी, वृक्ष प्रेमी किषन सिंह मलडा, व्यापार संघ अध्यक्ष कवि जोशी, हरीश सोनी, बाला दत्त तिवारी, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ हरीश पोखरिया, ईओ हयात सिंह परिहार, मुख्य कृषि अधिकारी डाॅ गीतांजलि बंगारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ कमल पंत, जिलाध्यक्ष कांग्रेस भगत डसीला, भुबन काण्डपाल, नीमा दफौटी, प्रधान पुजारी नन्दन रावल, मोहन उप्रेती, कुंदन धपोला, समेत अन्य विभागीय अधिकारी, व्यापारी, एवं जनप्रतिनिधि व गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

फार्मा सेक्टर में होगा 3500 करोड़ का निवेश:डॉ धन सिंह रावत

Spread the love देहरादून, ।राज्य में आयोजित होने वाले दो दिवसीय इन्वेस्टर समिट के माध्यम से प्रदेश के फार्मा सेक्टर में 3500 करोड़ के निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं, जिनके माध्यम से राज्य के पाँच हजार युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। इसके अलावा उच्च शिक्षा के अंतर्गत […]

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/devbhoom/public_html/wp-includes/functions.php on line 5279

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/devbhoom/public_html/wp-includes/functions.php on line 5279