हाईकोर्ट के आदेश पर अतिक्रमण पर गरजी जेसीबी, व्यापारियों में मचा हड़कंप

Spread the love
काशीपुर ।देवभूमि खबर। हाई कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए आज प्रशासन व नगर निगम की टीम ने पुलिस फोर्स के साथ चिन्ह्ति किये गये अतिक्रमण पर जमकर जेसीबी चलवाई। जेसीबी गरजते ही दुकानदारों में हड़कंप मच गया। कार्यवाही के विरोध में व्यापारी नेता भी मौके पर पहुंच गये। नाली के ऊपर से निर्माण हटाये जाने का विरोध करते हुए जेसीबी के आगे सड़क पर बैठ एक वारगी कार्यवाही बंद करा दी, इस दौरान व्यापारी नेताओं व प्रशासनिक अधिकारियों मेें कई बार जमकर तीखी नोकझोंक होने पर कई बार स्थिति खासी उत्तेजित हो गयी, जिसमें पुलिस को दखलनदाजी करनी पड़ी। कुछ लोगों द्वारा स्वंय ही अतिक्रमण तोड़े जाने लगा। इससे स्थिति कुछ कंट्रोल में हो सकी।
बतादें कि मौहल्ला काजीबाग निवासी कासिफ अली द्वारा करीब पांच माह पूर्व हाई कोर्ट में रतन सिनेमा रोड व मुख्य बाजार रोड पर हुए अतिक्रमण के खिलाफ  जनहित में याचिका दायर की थी। हाई कोर्ट ने अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन को आदेश दिया था। नगर निगम ने बीते दिनों दोनों मार्गों पर अतिक्रमण करने वाले 776 लोगों को चिह्न्ति किया। इस माह के प्रथम सप्ताह में संयुक्त मजिस्ट्रेट विनीत तोमर ने नगर निगम, व्यापार मंडल व पुलिस अफसरों के साथ बैठक कर त्यौहारों के मद्देनजर 22 अक्टूबर तक अतिक्रमणकारियों को अतिक्रमण स्वयं हटाने की मोहलत दी थी।
यहां बताते चलें कि त्यौहार खत्म होते ही नगर निगम प्रशासन द्वारा बीते चार दिनों से दोनों ही मार्गो पर चिन्ह्ति किये गये अतिक्रमण हटाने के लिए दुकानदारों को मुनादी भी करायी गयी। इसके बावजूद अवैध काबिज लोगों ने अतिक्रमण नहीं हटाया। इस पर नगर निगम ने सख्त होते हुए आज अतिक्रमण हटाने की तैयारी कर ली। इसके लिए पुलिस फोर्स भी मांगी गई। आज अपराह्न उपजिलाधिकारी विनीत तोमर व मुख्य नगर आयुक्त केके मिश्र के नेतृत्व में पुलिस फोर्स की मौजूदगी में नगर निगम की टीम ने महाराणा प्रताप चौक पर पहुंच मुख्य बाजार वाले मार्ग पर जेसीबी के साथ अतिक्रमण तोडना शुरू कर दिया। इस पर दुकानदारों में हड़कंप मच गया तथा अधिकांश दुकानदार अपना अपना सामान समेट कुछ दुकान बंद करने लगे तथा कुछ दुकानदारों ने सड़क पर फैला सामान उठाना शुरू कर दिया। इधर व्यापारी नेता भी मौके पर पहुंच गये, उन्होंने अतिक्रमण तोडने की कार्यवाही में पक्षपात का आरोप लगाते हुए कहा कि जहां कई कई मीटर अतिक्रमण है वहां से प्रशासन पूरी तरह अपनी आंखे मूंदे हुए है। व्यापारी नेताओं ने अधिकारियों से कहा कि उनके पास करीब दो ढाई फिट सामान रखने की कोर्ट की परमीशन है। जिसे कई बार हुई बैठकों में निगम व प्रशासनिक अधिकारियों को दिखाया जा चुका है। बातचीत के इस दौरान निगम की टीम ने जेसीबी से अतिक्रमण तोडना फिर से शुरू कर दिया, जिस पर व्यापारी नेता जमकर भड़क उठे तथा वह जेसीबी के आगे सड़क पर बैठ गये। जिससे स्थिति खासी उत्तेजित हो गयी। इस पर पुलिस को भी हस्तक्षेप करना पड़ा। इस दौरान  वहां मौजूद अधिकारियों व व्यापारी नेताओं में जमकर तीखी नोकझोंक होने पर अधिकारियों ने हाईकोर्ट के निर्देश के अनुपालन कार्यवाही करना बताया। जिस पर व्यापारी नेताओं ने बाजार बंद का ऐलान करने पर दुकानें बंद होने लगी, इससे प्रशासनिक टीम के भी हाथ पांव फूल गये। बाद में कुछ व्यापारी नेताओं ने स्वयं ही अतिक्रमण तोडने की कार्यवाही कर दुकानदारों को अतिक्रमण हटाने के लिए कुछ घंटे का समय दिलवा दिया। खबर लिखे जाने तक मुख्य बाजार में अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही जारी थी। इस दौरान तहसीलदार संजय कुमार के अलावा व्यापारी नेता राजीव सेतिया डम्पी, राकेश नरूला, दीपक वर्मा, गौतम मेहरोत्रा आदि तमाम व्यापारी नेता व दुकानदार मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

किसानों की आय दोगुनी करने में जुटें अभी से: डीएम

Spread the loveपौड़ी ।देवभूमि खबर। देर सायं विकास भवन सभागार में किसानों की आय दोगुनी करने, कलस्टर बेस खेती करने, फलोद्यान, फलोत्पादन, डेयरी, पशुपालन, मौसमी व बेमौसमी सब्जी उत्पादन, किसान क्रेडिट कार्ड, सगन्ध पादप, विपणन, मृदा परीक्षण, उद्योग स्थापना के साथ ही मिशन अन्त्योदय के कार्यकलापों की प्रगति समीक्षा को […]

You May Like