स्टिंग साजिशकर्ताओं को कड़ी से कड़ी सजा मिले:धस्माना

Spread the love

देहरादून।देवभूमि खबर। सीएम और अफसरों के स्टिंग की साजिश के मामले में कांग्रेस ने सरकार से आरोपी के पास बरामद स्टिंग के फुटेज सार्वजनिक करने की मांग की है। कांग्रेस का कहना है कि कई स्टिंग में अफसरों के साथ पैसों के लेनदेनए टेंडर की सेटिंग होने के आरोप है। इससे सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस का दावा सरासर झूठा साबित हो रहा है।

कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि मुख्यमंत्री को खुद आगे आकर स्पष्टीकरण देना चाहिए। राजीव भवन में मीडिया से बातचीत में धस्माना ने कहा कि कांग्रेस किसी अपराधी के पक्ष में नहीं है। साजिश कर्ताओ को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी ही चाहिए। पर जिस व्यक्ति को आज स्टिंग की साजिश में गिरफ्तार किया गया है उसी व्यक्ति ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के सीएम हरीश रावत का भी स्टिंग किया था। उस वक्त स्टिंग को भाजपा अच्छा बताती थी। उस व्यक्ति को केन्दीय सुरक्षा बलों की सुरक्षा तक दे दी गई। पर आज जो भाजपा  ईमानदारी का ढोल पीटते नहीं थकती, स्टिंग से क्यों डर रही है यदि सब ईमानदार हैं तो डर किस बात का। एक अहम सवाल यह भी है कि यह मामला 10 अगस्त को सामने आ गया था। यदि सरकार और अफसर ईमानदार थे तो साजिश कर्ताओ पर उसी दिन कार्रवाई क्यों न की गई। धस्माना ने कहा कि यदि सरकार वास्तव में ईमानदार है तो तत्काल आरोपी से बरामद सीडी, पेन ड्राइव, कैमरों आदि को सार्वजनिक करें। जिन जिन अफसरों को स्टिंग में आपत्तिजनक आचरण करते देखा जा रहा होए उनके खिलाफ भी कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। इस मौके पर प्रवक्ता गरिमा महरा दसौनी, राजेन्द्र शाह, महेश जोशी, राजेश चमोली आदि भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

तीर्थाटन को बढ़ावा देने के लिए पृथक से तीर्थाटन मंत्रालय बनाए जाने की जरूरत है।

Spread the love देहरादूनर।देवभूमि खबर। विश्वनाथ जगदीशिला डोली रथ यात्रा के संयोजक मंत्री प्रसाद नैथानी ने बताया कि तीर्थाटन को बढ़ावा देने के लिए पृथक से तीर्थाटन मंत्रालय बनाए जाने की जरूरत है। तीर्थाटन को बढ़ावा देने के लिए उत्तराखंड में 1000 धाम चिन्हित किए जाएंगे। 2020 से 2030 तक […]

You May Like